Koo और Twitter में क्या अंतर है ? जाने हिंदी में - Koo and Twitter Different in Hindi | Koo App को Download कैसे करे? Koo App को Download कहा से करे ?

टिप्पणी पोस्ट करें

 Koo और Twitter में क्या अंतर है ? जाने हिंदी में Koo and Twitter Different in Hindi 

चीनी Application तथा Whatsapp और Facebook द्वारा डेटा को लेकर लगातार विवाद में आने के बाद भारत सरकार अब सभी भारतीयों के डेटा को लेकर सतर्क मोड में आ चुकी है. क्योंकि भारत में अब तक डेटा को लेकर किसी तरह के कोई भी सटीक नियम कानून नहीं थे  ऐसे में भारत में अब विदेशी सोशल मीडिया को रिप्लेस करने को लेकर विकल्प तलाशे जा रहे हैं. ऐसे में अब Twitter के विकल्प के तौर पर  भारतीय application (Koo App) भारत में आ चुका है. यह App लोगों द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है. बता दें Koo App पर कई लोकप्रिय लोगों ने अपने अकाउंट भी बना लिए हैं. इनमें से एक हैं जाने माने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal). इन्होंने अपना अकाउंट Koo App पर बना लिया है और भी कई मंत्री सहित अन्य कई लोगों ने एक एक कर अपना अकाउंट Koo App पर बना रहे हैं


Koo App एक Microblogging साइट है. इस Application में वह सभी खूबिया हैं जो Twitter में थे. आसान भाषा में कहें तो Koo made in India ट्विटर है. इसमें भारत की कुल 8 भाषाओं को शामिल भी किया गया है. Koo को App और website दोनों ही माध्यमों से आसान तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है.
Koo App की ज्यादातर फंडिंग इंफोसिस के मोहनदास पाई की 3one4 capital की ओर से की गई. Koo ने फंडिंग के रूप में 30 करोड़ रुपये जुटाए हैं. बता दें कि पिछले काफी समय से स्वदेशी App व स्वदेशी Product को बढ़ावा दिया जा रहा है. एक तरफ डेटा को लेकर व भारत सरकार द्वारा जारी आदेशों का का पालन Twitter द्वारा बिलकुल भी नहीं किया जा रहा है. इसी कड़ी में Koo App भारतीयों के लिए नए विकल्प तैयार कर रहा है. 

Koo App को Download कैसे करे? Koo App को Download कहा से करे ?

Koo App को आप Google Play Store और App Store दोनों ही जगहों से Download कर सकते हैं.
ऐसे डाउनलोड करें Koo App
क्या आप जानते है की Koo App डिजिटल इंडिया आत्मनिर्भर भारत इनोवेट चैलेंज का विजेता रहा था. Koo App एक Free ऐप है और आप इसे Google Play Store के साथ ही ऐपल ऐप स्टोर से बिल्कुल फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं. इसके लिए आपको गूगल प्ले स्टोर या ऐप स्टोर पर Koo App सर्च करना होगा. इतना करने के बाद आपको सबसे पहले 'Koo, Connect with Indians in Indian Languages' नजर आएगा. जिसे Verify करने के बाद आप Download कर सकते हैं

पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर Koo App ने काफी धूम मचा रखी है. इस ऐप को देसी Twitter कहा जा रहा है. हाल ही में केंद्र सरकार और Twitter के बीच हुए टकराव के बीच ये Koo App तेजी से पॉपुलर हुआ है. इस Application  को अब तक 10  लाख से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं. सबसे पहले केंद्रीय मंत्री Piyush Goyal ने इस App की जानकारी Twitter पर दी थी. माननीय  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कार्यक्रम  'मन की बात' में इसकी चर्चा भी कर चुके हैं. 

आइए जानते हैं Koo App और Twitter में क्या फर्क है.


Koo App के ज्यादातर फीचर्स Twitter से मिलते जुलते ही हैं. हालांकि दोनों में कुछ बातों का अंतर भी है.


Twitter अंग्रेजी भाषा में Availabe है जबकि Koo App हिंदी, अंग्रेजी समेत 8 देशी भाषाओं में उपलब्ध है.


Twitter में शब्दों की सीमा 280 है जबकि Koo App में शब्दों की सीमा 350 रखी गई है.


Twitter अमेरिका की कंपनी है जबकि Koo एक भारतीय App है.


Twitter पर डिटेल्स लीक होने का खतरा हो सकता है लेकिन Koo एक देसी App है इसलिए जानकारियां देश के सर्वर में ही सेफ और सुरक्षित रहेंगी.


Twitter के CEO जैक डॉर्सी Jack Dorsey हैं जबकि Koo App को Aprameya radhakrishnan और Mayank Bidawatka ने मिलकर बनाया है


आप Koo App पर Twitter की ही तरह से पोस्ट और फोटो-वीडियो शेयर कर सकते हैं.



 
Admin
I love collecting information from the internet. I have used internet a lot during my school time, but whatever I have done, it gives me a lot of value.

Related Posts

टिप्पणी पोस्ट करें

Follow by Email