स्मार्टफोन और टैबलेट मिलने से डिजिटल इंडिया को मिलेगी रफ्तार

छात्रों को सशक्त और डिजिटल इंडिया को रफ़्तार देने के लिए प्रदेश सरकार की स्मार्टफोन व टैबलेट वितरण योजना का कार्य तेज़ी से किया जा रहा है। नई सरकार के गठन के साथ ही डिवाइस वितरण पर लगी रोक हटने के बाद विद्यार्थियों में प्रसन्नता है। काशी विद्यापीठ के वाराणसी समेत पांचों जिलों के 353 महाविद्यालयों के दो लाख दो हजार 477 विद्यार्थी डीजी शक्ति पोर्टल पर पंजीकृत हैं।

जिला प्रशासन स्मार्टफोन व टैबलेट वितरण के कार्य किया जा रहा है। पहले चरण में परास्नातक तृतीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों के लिए टैबलेट एवं स्नातक तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों के लिए स्मार्ट फोन दिए गए हैं। नोडल अधिकारी डॉ. दुर्गेश कुमार उपाध्याय ने बताया कि चयनित विद्यार्थियों की संख्या के अनुसार जैसे-जैसे टैबलेट एवं स्मार्टफोन प्राप्त होते जाएंगे, वह संबंधित महाविद्यालयों में प्रदान करते जाएंगे। वर्तमान में विश्वविद्यालय द्वारा टैबलेट व स्मार्टफोन की कोडिंग व मैपिंग जारी है। छह जनवरी को रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर में सीएम ने जिले के 15 सौ विद्यार्थियों को टैबलेट व स्मार्टफोन वितरित किया था। काशी विद्यापीठ को 22 मार्च को 2192 और 28 मार्च को 1362 स्मार्टफोन व 263 टैबलेट मिले थे।।

जिलेवार अपलोड किया गया है डाटा

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ की ओर से दो लाख दो हजार 477 विद्यार्थियों का डाटा डिजी शक्ति पोर्टल पर अपलोड किया गया था। इसमें वाराणसी 87, 806, भदोही में 15, 635, चंदौली में 36,684, मिर्जापुर में 41, 718, एवं सोनभद्र में 20,534 विद्यार्थी हैं।

बनारस के 119 महाविद्यालय हैं पंजीकृत

नोडल अधिकारी डॉ. मुकेश कुमार पंथ ने बताया कि बनारस के अंतर्गत काशी विद्यापीठ से संबद्ध 119 महाविद्यालय पंजीकृत हैं। डिजी शक्ति पोर्टल के माध्यम से मुख्य परिसर के सात हजार 929 विद्यार्थी, गंगापुर परिसर के 2,572 विद्यार्थी एवं भैरो तालाब परिसर के 321 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। वितरण की सूचना केवल विद्यापीठ प्रशासन द्वारा वेबसाइट के माध्यम से दी जाएगी। प्रशासनिक स्तर पर संस्थानों को टैबलेट एवं स्मार्टफोन वितरण का दायित्व मुख्य विकास अधिकारी को सौंपा गया है।

स्नातक और स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों को मिलेगा लाभ

स्नातक और परास्नातक के विद्यार्थियों को योजना का लाभ मिलेगा। अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर वाले विद्यार्थियों को प्राथमिकता दी गई है। बीए, बीएड, बीएससी, एमए, आईटीआई, एमबीबीएस, एमडी, बीटेक, एमटेक, पीएचडी, एमएसएमई और स्किल डेवलपमेंट के अंतिम वर्ष में पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों को वरीयता मिलेगी।

2035 करोड़ रुपये का ऑर्डर

पहले चरण के लिए 2035 करोड़ रुपये का ऑर्डर जारी किया गया है। इसमें 10,740 रुपये की दर से साढ़े दस लाख मोबाइल और 12,606 रुपये की दर से सात लाख 20 हजार टैबलेट के ऑर्डर दिए गए हैं।

Admin
I love collecting information from the internet. I have used internet a lot during my school time, but whatever I have done, it gives me a lot of value.

Related Posts