Free Smartphone Tablet वितरण में हो सकती है परेशानी?

अब Free Smartphone Tablet वितरण में सकती है परेशानी? आयोग द्वारा मिली जानकारी 

जहां कोरोना की रफ्तार अब कम होने का नाम नहीं ले रही है उसी तरह लगातार इलेक्शन की प्रचार भी जोरो सोरो से हो रहे है भारत में omicron बहुत तेजी से बढ़ रहा है प्रयागराज के हर इलाके हुए कोरोना से संक्रमित कई experts का मानना है की यह अब जल्द ही पीक पर होगा भारत सरकार की माने तो इसबार कोरोना से लड़ने के लिए सरकार ने बहुत पुख्ता इंतजाम कर रखे है जिससे की कोरोना को ज्यादा बढ़ने से रोका जा सकता है |

tech2radar.com

(UP Election 2022)की खबर जैसे की जानने को लोग बेताब है इसके मद्दे नजर चुनाव आयोग द्वारा  हम आपको बता दें की उत्तर प्रदेश में चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी से चुनाव की शुरुआत होने जा रहें है और यह चुनाव 7 मार्च तक यू पी में होंगे.आयोग ने बताया कि उत्तर प्रदेश में 07 चरणों में मतदान होंगे, वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी. 

इसी बीच चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही चुनाव आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा द्वारा उत्तर प्रदेश में आदर्श चुनाव सहिंता तत्काल प्रभाव से लागू कर दी गई है. राज्य में स्वतंत्र चुनाव के लिए राजनैतिक दलों की बड़ी जिम्मेदारी आचार संहिता (Model Code of Conduct) का पालन करना भी  है. 

आदर्श आचार संहिता में कई पाबंदियां भी शामिल है जैसे :-

  • सरकारी भवनों में पीएम, सीएम, मंत्री, राजनीतिक व्यक्तियों के फोटो निषेध रहेंगे.
  • पीएम, सीएम, मंत्री, राजनीतिक व्यक्तियों द्वारा सार्वजनिक उद्घाटन, शिलान्यास बंद.
  • सरकार की उपलब्धियों वाले प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और अन्य मीडिया में विज्ञापन नहीं दे सकेंगे.
  • अब सरकार की उपलब्धियों वाले कोई भी होर्डिंग्स नहीं लगेंगे.
  • किसी भी संबंधित निर्वाचन क्षेत्र में नहीं होंगे शासकीय दौरे.
  • सरकारी वाहनों में नहीं लगा सकेंगे सायरन.
  • नए कामों की स्वीकृति बंद.
  • और अब सरकार की उपलब्धियों वाले लगे हुए होर्डिंग्स भी हटाए जाएंगे.
इन्हीं सब चीजों को देखते हुए Smartphone Tablet वितरण में हो सकती है परेशानी मगर आपको चिन्तित होने की आवश्यकता नहीं है क्योकि वितरण में देरी हो सकती है, चूँकि CM योगी सरकार द्वारा UP Free Smartphone-Tablet योजना की घोषणा आचार संहिता लगने से पहले लागू की गयी थी इसलिए इस योजना पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा, मगर प्रदेश में पढ़ते कोरोना मामले इस पर अपना असर डाल सकते है।  

किसी तरह के रिश्वत या प्रलोभन से बचें. ना दें, ना लें. सोशल मीडिया पर पोस्ट करने पर खास खयाल रखें. आपकी एक पोस्ट आपको जेल भेजने के लिए काफी है. इसलिए किसी तरह मैसेज को शेयर करने या लिखने से पहले आचार संहिता के नियमों को ध्यान से पढ़ लें.

Related Posts